घर पर उगाई जाने वाली टॉप 10 क्रूसिफेरस सब्जियां - Top 10 Cruciferous Vegetables In Hindi

घर पर उगाई जाने वाली टॉप 10 क्रूसिफेरस सब्जियां – Top 10 Cruciferous Vegetables In Hindi

क्रूसिफेरस सब्जियां ब्रैसिसेकी परिवार (Brassicaceae family) की सब्जियां हैं, जिन्हें गोभी वर्गीय सब्जियों के नाम से भी जाना जाता है, इनके अंतर्गत सब्जियों की कई प्रजातियों और किस्मों को शामिल किया गया है, जैसे फूलगोभी, पत्ता गोभी, केल, गार्डन क्रेस, ब्रोकोली, ब्रसेल्स स्प्राउट्स आदि। क्रूसीफेरस सब्जियों में बहुत अधिक मात्रा में पोषक तत्व पाये जाते हैं, जो रोग प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाते हैं, इसलिए अधिकतर लोग इन सब्जियों को अपने घर पर या टेरेस गार्डन में उगाना पसंद करते हैं। यदि आप भी स्वाद से भरपूर और ताज़ा खाने के लिए यह गोभी वर्गीय सब्जियाँ (क्रूसीफेरस सब्जियाँ) अपने घर पर उगाना चाहते हैं, तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें, जिसमें आप क्रूसिफेरस सब्जियां कौन-कौन सी हैं, इन सब्जियों के क्या फायदे हैं और क्रूसिफेरस (क्रूसीफेरी) सब्जियों को घर पर कैसे उगाया जाता है? के बारे में जानेगें।

क्रूसिफेरस सब्जियां क्या हैं – What Is Cruciferous Vegetables In Hindi

यह एक ब्रैसिसेकी परिवार (Brassicaceae family) की सब्जियों का समूह है, जिसमें कम कैलोरी वाली, विटामिन्स और फाइबर से भरपूर सब्जियों को शामिल किया गया है, इन्हें गोभी वर्गीय सब्जियाँ भी कहा जाता है। ये क्रूसिफेरस सब्जियां मानव स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक और रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाने वाली होती हैं। आइए जानते हैं क्रूसिफेरस सब्जियां कौन-कौन सी हैं।

घर पर लगाई जाने वाली कुछ क्रूसिफेरस सब्जियां – Some Cruciferous Vegetables To Grow At Home In Hindi

यदि आप अपने घर पर क्रूसिफेरस सब्जियों को उगाना चाहते हैं, तो हम आपको बता दें कि ये सब्जियां घर पर उगाना बहुत ही आसान है। घर पर आसानी से उगाई जाने वाली क्रूसीफेरी सब्जियां निम्न हैं:

  • पत्ता गोभी (Cabbage)
  • फूल गोभी (Cauliflower)
  • केल (Kale)
  • ब्रोकली (Broccoli)
  • बोक चोय (Bok Choy)
  • ब्रसेल्स स्प्राउट्स (Brussels Sprouts)
  • अरुगुला (Arugula)
  • ओक लेट्यूस (Oak Lettuce)
  • रेडिकियो (Radicchio)
  • कोलार्ड ग्रीन (Collard Green)

पत्ता गोभी – Cabbage In Hindi

पत्ता गोभी – Cabbage In Hindi

क्रूसिफेरस सब्जियों में एक महत्वपूर्ण सब्जी पत्ता गोभी है। यह एक पत्तेदार हरी सब्जी है, जिसे ज्यादात्तर लोग खाना पसंद करते हैं। पत्ता गोभी की कई अलग-अलग किस्में हैं, जिनमें सेवॉय कैबेज (savoy cabbage), चाइनीज कैबेज (Chinese cabbages) और लाल पत्ता गोभी (red cabbages) शामिल हैं।

  • वानस्पतिक नाम – ब्रासिका ओलेरासिया वार कैपिटाटा (Brassica oleracea var. capitata)
  • बीज लगाने का समय मुख्यतः जुलाई-नवंबर (पहाड़ी क्षेत्र में अप्रैल से अगस्त)
  • पॉट साइज कम से कम 12 इंच गहरा और 18 इंच चौड़ा पॉट या ग्रो बैग
  • ग्रोइंग तापमान – 13 से 25 डिग्री सेल्सियस
  • लगाने का तरीका – डायरेक्ट सीड सोइंग या ट्रांसप्लांट मेथड
  • बीज लगाने की विधि – पत्ता गोभी के बीज को कार्बनिक पदार्थों से भरपूर मिट्टी में लगभग 1/4 इंच (0.5cm) की गहराई पर लगाया जाता है। जब पत्ता गोभी के पौधे 4-6 इंच बड़े हो जाते हैं, तब पौधों को 15-18 इंच की दूरी पर ट्रांसप्लांट कर दिया जाता है। अच्छे विकास के लिए इस पौधे को नियमित समयांतराल पर पानी और जैविक खाद देना चाहिए।
  • साथी पौधे – पत्ता गोभी को निम्न पौधों के साथ ग्रो किया जा सकता है, जैसे: कैमोमाइल, धनिया, डिल (dill), पुदीना (mint), थाइम (thyme), चेरविल (chervil), जेरेनियम, सेज और सेलेरी
  • हार्वेस्टिंग टाइम – 90-120 दिन

(यह भी जानें: घर पर गमले में लगाने के लिए बेस्ट 10 सब्जियां…)

अच्छी क्वालिटी की पॉटिंग मिट्टी खरीदने के लिए नीचे दिए गए Add to cart पर क्लिक करें:

  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist

फूल गोभी – Cauliflower In Hindi

फूल गोभी - Cauliflower In Hindi

क्रूसिफेरस सब्जियों के समूह में फूल गोभी एक सबसे पसंदीदा सब्जी है। फूल गोभी को लोग कच्चा या पका दोनों रूप में खाना पसंद करते हैं। इस सब्जी के पौधे को अधिकतर लोग ताज़ा खाने के लिए अपने घर पर लगाते हैं।

  • वानस्पतिक नाम – ब्रैसिका ओलेरासिया वर बोट्राइटिस (Brassica oleracea var. botrytis)
  • बीज लगाने का समय आखिरी गर्मी और शुरूआती ठण्ड के मौसम में (मई-अक्टूबर)
  • पॉट साइज 12 से 18 इंच चौड़ा और 8 से 12 इंच गहरा
  • ग्रोइंग तापमान – 10 से 30 डिग्री सेल्सियस
  • बीज लगाने की विधि – फूल गोभी के बीजों को मिट्टी लगभग ½ इंच (1 cm) गहराई में लगाया जाता है, उसके बाद जब पौधे 6 इंच बड़े हो जाते हैं, तब उन पौधों को लगभग 18 से 24 इंच की दूरी पर ट्रांसप्लांट कर दिया जाता है। पौधे की मिट्टी को समान रूप से नम बनाये रखने के लिए आप उस पौधे की मल्चिंग भी कर सकते हैं।
  • साथी पौधे (companion plants) – बीन्स, प्याज और सेलेरी
  • हार्वेस्टिंग समय – 90-120 दिन

केल – Kale In Hindi

केल – Kale In Hindi

केल एक लोकप्रिय पत्तेदार क्रूसिफेरस सब्जी है, जिसे कच्चा या हल्का स्टीम्ड फूड के रूप में खाया जा सकता है। केल की कई अलग-अलग किस्में हैं, जिनमें पर्पल (purple kale), कर्ली ब्लू (curly blue kale) और लैसिनेटो केल (lacinato kale) शामिल हैं।

  • वानस्पतिक नाम – ब्रैसिका ओलेरासिया वार सबेलिका (Brassica oleracea var sabellica)
  • बीज लगाने का समय ठण्ड के पहले (अक्टूबर-नवंबर)
  • पॉट साइज कम से कम 12 इंच चौड़ाई और ऊँचाई वाला गमला
  • ग्रोइंग तापमान – 7 से 24 डिग्री सेल्सियस
  • लगाने का तरीका – डायरेक्ट या ट्रांसप्लांट
  • बीज लगाने की विधि – केल के बीज को अच्छी तरह से सूखी हुई, दोमट मिट्टी में ¼ या ½ इंच (0.5-1cm) गहराई पर पॉट या ग्रो बैग की मिट्टी में लगाएं, फिर जब पौधे 6 इंच बड़े हो जायें, तब आप इन पौधों को 12 इंच की दूरी पर लगा सकते हैं। केल के पौधे ठंढ सहिष्णु होते है और उनकी जड़ें उथली होती हैं, इसलिए गर्मी के दिनों में मिट्टी को ठंडा रखने के लिए आप केल पौधों के चारों ओर गीली घास की मल्चिंग कर सकते है।
  • हार्वेस्टिंग समय – हार्वेस्टिंग के लिए डायरेक्ट मेथड से 70-95 दिन और ट्रांसप्लांटिंग विधि से 55-75 दिन लगते हैं।

(यह भी जानें: टॉप 15 सलाद वाली पत्तेदार सब्जियां, जिन्हें घर पर उगाना है आसान…)

ब्रोकली – Broccoli In Hindi

ब्रोकली - Broccoli In Hindi

ब्रोकली सबसे लोकप्रिय क्रूसिफेरस सब्जियों में से एक है, जिसे ज्यादातर लोग घर पर उगाना पसंद करते हैं। ब्रोकली को घर पर कंटेनरों या पॉट में उगाना बहुत आसान है।

  • वानस्पतिक नाम – Brassica oleracea var italic
  • बीज लगाने का समय – शुरूआती वसंत (जनवरी-फरवरी) और सितम्बर-अक्टूबर के महीने में
  • पॉट साइज – 10-12 इंच गहरा और चौड़ा गमला या ग्रो बैग
  • ग्रोइंग तापमान – 12 से 24 डिग्री सेल्सियस
  • बीज लगाने का तरीका – डायरेक्ट या ट्रांसप्लांट
  • बीज लगाने की विधि – ब्रोकली के बीजों को 1⁄4 इंच (0.5cm) गहराई और 3 इंच की दूरी पर सीडलिंग ट्रे या कंटेनर में में लगाया जाता हैं। ट्रांसप्लांटिंग के समय जब पौधे 4-6 इंच के हो जाएं, तब आप इन पौधों को 12 से 20 इंच की दूरी पर लगाएं। ब्रोकली के पौधे को पूर्ण सूर्य प्रकाश में लगा कर पौधे की मिट्टी को नियमित रूप से पानी दें।
  • हार्वेस्टिंग का समय – डायरेक्ट मेथड द्वारा 100-150 दिन और ट्रांसप्लांट करने पर 55-80 दिन

सीड खरीदने के लिए नीचे दिए गए Add to cart पर क्लिक करें:

  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist

बोक चॉय – Bok Choy In Hindi

बोक चॉय - Bok Choy In Hindi

बोक चॉय, जिसे पाक चॉय (Pak choy) के नाम से भी जाना जाता है। यह एक लोकप्रिय चाइनीज कैबेज (Chinese cabbage) है, जिसका उपयोग कई व्यंजनों में किया जाता है, इसलिए लोग इस क्रूसिफेरस सब्जी को अपने घर पर उगाना पसंद करते है।

  • वानस्पतिक नाम – Brassica rapa subsp chinensis
  • बीज लगाने का समय – आखिरी ठण्ड या वसंत ऋतु (जनवरी-मार्च)
  • पॉट साइज – 12 इंच चौड़ा और 12 इंच गहरा
  • ग्रोइंग तापमान – 5 से 24 डिग्री सेल्सियस
  • बीज लगाने का तरीका – ट्रांसप्लांट मेथड
  • बीज लगाने की विधि – ठंडे मौसम में बोक चोय के बीजों को ½ इंच की गहराई में किसी सीडलिंग ट्रे या कंटेनर में लगाएं और फिर ठंड के मौसम के बाद आप बोक चोय के पौधे को 6 से 12 इंच की दूरी पर बगीचे में ट्रांसप्लांट करें। ये पौधे गर्म मौसम के प्रति संवेदनशील होते हैं, इसलिए मिट्टी को ठंडा और नम बनाए रखने के लिए गीली घास बिछाकर मल्चिंग करें।
  • हार्वेस्टिंग का समय – 50 से 60 दिन

ब्रसल स्प्राउट – Brussels Sprouts In Hindi

ब्रसल स्प्राउट - Brussels Sprouts In Hindi

ब्रसल स्प्राउट एक बेस्ट क्रूसिफेरस सब्जी है। पोषक तत्वों से भरपूर यह सब्जी हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती है। ब्रसेल्स स्प्राउट्स को आप सलाद में कच्चा भी खा सकते हैं।

  • वानस्पतिक नाम – Brassica oleracea var. gemmifera
  • बीज लगाने का समय – आखिरी गर्मी (जून-सितम्बर) या शुरूआती वसंत (जनवरी-फरवरी)
  • पॉट साइज़ – 12 इंच गहरा और 12-14 इंच व्यास वाला पॉट
  • ग्रोइंग तापमान – 10 से 25 डिग्री सेल्सियस
  • उगाने का तरीका – डायरेक्ट या ट्रांसप्लांट
  • बीज लगाने की विधि – ब्रसेल्स स्प्राउट्स के बीज 3-4 इंच की दूरी पर लगभग ¼ से ½ इंच (0.5-1cm) की गहराई पर लगाए जा सकते हैं, और फिर जब पौधे 4-6 इंच के हो जाएं, तब 12-18 इंच की दूरी पर इन पौधों को ट्रांसप्लांट करें। ये पौधे 25 डिग्री सेल्सियस या उससे अधिक तापमान को सहन नहीं कर पाते हैं, और अंततः मर सकते हैं।
  • साथी पौधे – प्याज, आलू, सलाद पत्ता (lettuce), गाजर
  • हार्वेस्टिंग टाइम – 80-110 दिन

(यह भी जानें: सीडलिंग तैयार कर उगाई जाने वाली सब्जियां…)

अरुगुला – Arugula or Rocket In Hindi

अरुगुला – Arugula or Rocket In Hindi

अरुगुला, जिसे रॉकेट (Rocket) के रूप में भी जाना जाता है, क्रूसिफेरस परिवार का पौधा है। इस हरी पत्तेदार सब्जी को सलाद के रूप में कच्चा भी खाया जा सकता है। अरुगुला के पौधे को अधिकतर लोग अपने घर पर लगाना पसंद करते हैं।

  • वानस्पतिक नाम – एरुका सैटिवा (Eruca sativa)
  • बीज लगाने का समय – वसंत (फरवरी-मार्च) और शुरूआती ठण्ड (सितम्बर-अक्टूबर)
  • पॉट साइज24 x 6 इंच (चौड़ाई x उंचाई)
  • ग्रोइंग तापमान – 10 से 24 डिग्री सेल्सियस
  • लगाने का तरीका – डायरेक्ट सीड सोइंग मेथड
  • बीज लगाने की विधि – आप अरुगुला के बीजों को लगभग ¼ इंच (0.5cm) गहराई पर 1-2 इंच की दूरी पर लगा सकते हैं। नियमित रूप से पानी देने पर यह पौधा तेज़ी से वृद्धि करता है। पौधे बड़े हो जाने के बाद आप इसकी पत्तियों की लगातार कटाई कर सकते हैं।
  • साथी पौधे – प्याज, सलाद पत्ता (lettuce), गाजर
  • हार्वेस्टिंग का समय – बीज लगाने के लगभग 25-35 दिन बाद

रेड ओक लेट्यूस – Red Oak Lettuce In Hindi

रेड ओक लेट्यूस एक बहुत ही आकर्षक रूप वाला क्रूसिफेरस सब्जी का पौधा है, जो अपने मीठे स्वाद के कारण पसंदीदा होता है। इस पौधे के पत्ते कच्चे या पके दोनों रूपों में खाए जाते हैं। रेड ओक लेट्यूस के ताज़ा पत्तों को खाने के लिए इस पौधे को घर पर लगाया जाता है।

  • वानस्पतिक नाम – लैक्टुका सैटिवा (Lactuca sativa)
  • बीज लगाने का समय – शुरूआती ठण्ड और वसंत (सितंबर-नवंबर और फरवरी-अप्रैल)
  • पॉट साइज – 12 x 6 इंच (चौड़ाई x उंचाई)
  • ग्रोइंग तापमान – 12 से 24 डिग्री सेल्सियस
  • लगाने का तरीका – डायरेक्ट या प्रत्यारोपण
  • बीज लगाने की विधि – इस पौधे के बीज को लगभग 1/8 इंच (0.3cm) गहराई में बोएं। बीज अंकुरण के बाद जब पौधों में दो या तीन पत्ते आ जायें, तब 12 से 18 इंच की दूरी पर इन पौधों को ट्रांसप्लांट करें। यह पौधा पूर्ण सूर्य के प्रकाश या आंशिक छाया में अच्छी तरह विकसित हो सकता है।
  • हार्वेस्टिंग का समय – 28 दिनों में छोटी पत्तियों की और 50 दिनों में पूर्ण आकार की पत्तियां होने पर कटाई की जा सकते हैं।

(यह भी जानें: घर पर आसानी से उगाई जाने वाली बारहमासी सब्जियां…)

रेडिकियो – Radicchio in Hindi

रेडिचियो, जिसे सिचोरियम इंटीबस (Cichorium intybus) और इटालियन चिकोरी (Italian chicory) भी कहा जाता है, जो क्रूसिफेरस फैमिली की एक पत्तेदार सब्जी है। स्वाद में तीखे और कड़वे लगने वाले इन पत्तों को कच्चा व पका दोनों रूपों में खाया जाता है। बेहतर स्वाद के कारण लोग इस पसंदीदा पौधे को अपने घर पर लगाते हैं।

  • वानस्पतिक नाम – सिचोरियम इंटीबस (Cichorium intybus)
  • बीज लगाने का समय – आखिरी ठण्ड के समय (जनवरी-फरवरी)
  • पॉट साइज़18 x 9 इंच (W x H)
  • ग्रोइंग तापमान – 10 से 25 डिग्री सेल्सियस
  • लगाने का तरीका – ट्रांसप्लांटिंग
  • बीज लगाने की विधि – रेडिचियो एक बारहमासी पौधा है। इस पौधे के बीज को लगभग ¼ इंच गहराई में मिट्टी में लगाया जाता हैं। जब पौधे 4-6 इंच लम्बे हो जाते हैं, तब इन पौधों को 8 से 12 इंच की दूरी पर किसी गार्डन या पॉट में ट्रांसप्लांट किया जाता है। रेडिकियो के पौधे को अधिक धूप पड़ने पर दोपहर के समय आंशिक छाया में रख सकते हैं।
  • साथी पौधेचुकंदर, प्याज, स्ट्रॉबेरी, गाजर, मूली
  • हार्वेस्टिंग समय – 60-90 दिन

बीज खरीदने के लिए नीचे दिए गए Add to cart पर क्लिक करें:

  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist

कोलार्ड ग्रीन – Collard Green In Hindi

कोलार्ड ग्रीन - Collard Green In Hindi

कोलार्ड ग्रीन जिसका मूल नाम कोलवॉर्ट (colewort) हैं, यह क्रूसिफेरस परिवार की सब्जी है। हालांकि कोलार्ड ग्रीन की कुछ ऐसी किस्में भी हैं, जिनको क्रूसिफेरस सब्जियों से अलग रखा गया है। पोषक तत्वों से भरपूर कोलार्ड ग्रीन के हरे रंग के पत्ते सब्जी के रूप में खाने के लिए उपयोग किये जाते है।

  • वानस्पतिक नाम – Brassica oleracea var. viridis
  • बीज लगाने का समय – शुरूआती वसंत (फरवरी-मार्च) और गर्मियों के बाद (जून-नवम्बर)
  • पॉट साइज़24 x 12 इंच (W x H)
  • तापमान – 13 से 24 डिग्री सेल्सियस
  • लगाने का तरीका – डायरेक्ट या प्रत्यारोपण
  • बीज लगाने की विधि – कोलार्ड ग्रीन के बीज को मध्यम तापमान पर 1/4 से 1/2 इंच गहराई में, कंटेनर या सीडलिंग ट्रे में लगाया जाता हैं। अंकुरित होने के बाद जब इन पौधों की लम्बाई 4-6 इंच की हो जाती है, तब आप इन पौधों को 18 से 24 इंच की दूरी पर गार्डन में ट्रांसप्लांट कर सकते हैं।
  • साथी पौधेप्याज, आलू
  • हार्वेस्टिंग समय – 55 से 75 दिन

इस आर्टिकल में आपने जाना कि, घरों में उगाई जाने वाली क्रूस्फेरिस सब्जियां कौन-कौन सी हैं और इन सब्जियों को घरों में कैसे उगाया जाता है। आशा करते हैं, ये लेख आपको पसंद आया होगा, इस लेख से सम्बंधित आपके जो भी सवाल या सुझाव हैं, हमें कमेंट में लिखकर अवश्य बताएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shopping Cart

LOG IN

Don’t Have An Account?

OR
OR

SIGN UP

OR

Resend OTP (00:30)
0
    0
    Your Cart
    Your cart is emptyReturn to Shop
    Scroll to Top