इस तरह करें अपने पौधों में लिक्विड उर्वरक का उपयोग – How To Use Liquid Fertilizer On Plants In Hindi

इस तरह करें अपने पौधों में लिक्विड उर्वरक का उपयोग – How To Use Liquid Fertilizer On Plants In Hindi

कई बार होम गार्डन में लगे पेड़-पौधों की ग्रोथ अचानक रुक जाती है या उनमें फल और फूल लगना बंद हो जाते है। ऐसी स्थिति में अधिकतर गार्डनर पौधों में लिक्विड खाद या उर्वरक का उपयोग करने की सलाह देते हैं। लिक्विड खाद या उर्वरक का प्रयोग करने से पौधे दोगुनी तेजी से बढ़ने लगते हैं। अगर आप भी चाहते हैं कि आपके पौधे हरे भरे रहें, उनमें ज्यादा फल और फूल लगें, तो आप उनमें तरल जैव उर्वरक (Organic Liquid Fertilizer) डाल सकते हैं। यदि आप उन लोगों में से हैं जिन्हें तरल उर्वरक के नाम और पौधों में यह खाद या उर्वरक कैसे डालें? के बारे में पता नहीं है, तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है। पौधों की ग्रोथ को तेजी से बढ़ाने वाले जैविक तरल उर्वरक (Liquid Fertilizer) के नाम क्या हैं, उनका उपयोग कब और कैसे करें, जानने के लिए यह आर्टिकल पूरा जरूर पढ़ें।

तरल उर्वरक क्या होते हैं? – What Are Liquid Fertilizer For Plants In Hindi

तरल उर्वरक क्या होते हैं? - What Are Liquid Fertilizer For Plants In Hindi

पौधों में घोल (Solution) या तरल (Liquid) के रूप में डाले जाने वाले उर्वरकों (Fertilizers) को तरल उर्वरक या लिक्विड फर्टिलाइजर (Liquid Fertilizer) कहा जाता है। एनपीके (Npk Fertilizer) और सीवीड (Seaweed) कुछ प्रमुख लिक्विड उर्वरक हैं। इन तरल उर्वरकों में मौजूद पोषक तत्वों को पेड़-पौधे तेजी से अवशोषित कर लेते हैं, जिस वजह से पौधों पर इनका असर कुछ ही दिनों में नजर आने लगता है।

(यह भी जानें: सर्दियों में पौधों की ग्रोथ के लिए बेस्ट खाद और उर्वरक…..)

बेस्ट तरल खाद खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist

पौधों में लिक्विड उर्वरक का उपयोग कब करें – When To Use/Apply Liquid Fertilizer On Plants In Hindi

यदि आप अपने होम गार्डन में लगे पौधों को जल्दी हर भरा करना चाहते हैं और चाहते हैं कि उनमें जल्दी फल और फूल लगने लगें, तो इसके लिए तरल जैव उर्वरक का प्रयोग करना एक बेहतर विकल्प होता है। ऐसा इसीलिए क्योंकि लिक्विड खाद और उर्वरक पौधों को तुरंत पोषक तत्व देना शुरू कर देते हैं। आइये जानते हैं पौधों में लिक्विड फर्टिलाइजर उपयोग करने के बारे में:

  1. सीडलिंग की तेजी से ग्रोथ के लिए उसमें नाइट्रोजन से भरपूर लिक्विड फर्टिलाइजर का इस्तेमाल किया जाता है।
  2. पौधों की ग्रोइंग स्टेज में और फल-फूल लगते समय पोटेशियम और फास्फोरस से भरपूर लिक्विड फर्टिलाइजर का उपयोग कर सकते हैं।
  3. इसके अलावा यदि पौधों की ग्रोथ रुक गयी है या उनमें फल और फूल नहीं लग रहे हैं, तब भी NPK और प्लांट की ग्रोथ को बढ़ाने वाले तरल उर्वरक डाले जाते हैं।

(यह भी जानें: पौधों में फूल और फल लगने के लिए बेस्ट खाद…..)

तरल उर्वरक का प्रयोग किस समय करना चाहिए – What Time Of Day To Apply Liquid Fertilizer In Hindi

पौधों की मिट्टी में या पत्तियों पर लिक्विड फर्टिलाइजर का छिड़काव, दिन के सबसे ठंडे समय जैसे सुबह या शाम के समय करना चाहिए। अगर तेज धूप में तरल खाद या उर्वरक (liquid fertilizer) का फोलिअर स्प्रे किया, तो इससे पौधों की पत्तियों पर ब्राउन या जलने जैसे धब्बे (Leaf Sunscald) पड़ने लगते हैं। आमतौर पर लिक्विड फर्टिलाइजर का इस्तेमाल आप हर 2 से 3 हप्तों में एक बार कर सकते हैं।

(यह भी जानें: ओवर फर्टिलाइजर से खराब होते पौधों को कैसे बचाएं……)

गार्डनिंग टूल्स खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist

पौधों में लिक्विड उर्वरक का उपयोग कैसे करें How To Apply Liquid Fertilizer To Potted Plants In Hindi

गार्डन के पौधों में तरल जैविक उर्वरक का इस्तेमाल 2 तरीकों से किया जाता है:

  1. पहले तरीके में तरल जैव उर्वरक को पानी के साथ घोलकर पौधों की मिट्टी में डाला जाता है।
  2. और दूसरे तरीके में लिक्विड फर्टिलाइजर को पानी के साथ मिलाकर, उस घोल का पौधों की पत्तियों पर छिड़काव (Foliar Spray) किया जाता है।

पौधों की मिट्टी में लिक्विड उर्वरक का प्रयोग करना – Application Of Liquid Fertilizer In Soil In Hindi

पौधों की मिट्टी में लिक्विड उर्वरक का प्रयोग करना – Application Of Liquid Fertilizer In Soil In Hindi

जब तरल उर्वरक (liquid fertilizer) को पौधों की मिट्टी में डाला जाता है, तो वह तुरंत जड़ों तक पहुँच जाता है और जड़ों के माध्यम से अवशोषित कर लिया जाता है। जड़ों के माध्यम से पौधों को पोषक तत्व जल्दी मिल जाते हैं। आइये जानते हैं पौधों की मिट्टी में लिक्विड खाद या उर्वरक डालने की विधि:

  1. वाटरिंग कैन में 1 लीटर पानी लें और उसमें तरल उर्वरक की 2 से 3ml मात्रा को मिलाएं। आप जिस भी तरल उर्वरक का इस्तेमाल करेंगे, उसकी बोतल में लिखा रहेगा कि उसकी कितनी मात्रा को 1 लीटर पानी में मिलाना है।
  2. पानी और तरल उर्वरक दोनों को अच्छे से मिलाने के बाद तैयार घोल को पौधों की मिट्टी में ऐसे डालें जैसे पानी देते हैं।

(यह भी जानें: हैवी फीडर पौधे क्या हैं, जानें किन पौधों को दें अधिक खाद…..)

पौधे लगाने के लिए ग्रो बैग खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist

लिक्विड फर्टिलाइजर से पौधे की पत्तियों पर स्प्रे करना – Foliar Application Of Liquid Fertilizers In Hindi

लिक्विड फर्टिलाइजर से पौधे की पत्तियों पर स्प्रे करना – Foliar Application Of Liquid Fertilizers In Hindi

जब लिक्विड फर्टिलाइजर का पौधों की पत्तियों पर छिड़काव किया जाता है, तब पत्तियों के माध्यम से पोषक तत्व तेजी से अवशोषित कर लिए जाते हैं और इसका असर पौधों पर कुछ ही दिनों में दिखाई देने लगता है। आइये जानते हैं पौधों की पत्तियों पर लिक्विड खाद या उर्वरक स्प्रे करने की विधि:

  1. गार्डन स्प्रे पम्प में 1 लीटर पानी लेकर उसमें लिक्विड फर्टिलाइजर की 2-3ml मात्रा मिला दें।
  2. अब पानी और तरल जैव उर्वरक दोनों को अच्छे से मिक्स कर लें।
  3. इसके बाद गार्डन स्प्रे पम्प का ढक्कन बंद करें और उसमें प्रेशर बनाएं।
  4. इसके बाद घोल को पौधों की पत्तियों पर स्प्रे करें।

(यह भी जानें: गार्डन के पौधों में कम्पोस्ट खाद का उपयोग कैसे करें…..)

सीडलिंग में लिक्विड फर्टिलाइजर डालना – How To Use Liquid Fertilizer On Seedlings In Hindi

सीडलिंग को ट्रांसप्लांट करने के लगभग 15 दिन बाद उसमें अधिक नाइट्रोजन वाले लिक्विड फर्टिलाइजर का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन पौधों की तुलना में, सीडलिंग में तरल उर्वरक की आधी मात्रा को डाला जाता है। जैसे यदि लिक्विड फर्टिलाइजर की बोतल पर लिखा है कि 1 लीटर पानी में 4ml फर्टिलाइजर मिलाना है तो सीडलिंग के लिए आपको 2ml फर्टिलाइजर को 1 लीटर पानी में घोलना चाहिए। पानी और तरल उर्वरक को अच्छे से मिक्स करने के बाद उसे सीडलिंग की जड़ों में डालना चाहिए।

(यह भी जानें: वेजिटेबल सीडलिंग के लिए बेस्ट फर्टिलाइजर…..)

बागवानी उपकरण खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist

पौधों के लिए सबसे अच्छे तरल उर्वरक – Top Organic Liquid Fertilizer For House Plants In Hindi

पौधों के लिए सबसे अच्छे तरल उर्वरक - Top Organic Liquid Fertilizer For House Plants In Hindi

आजकल जैविक लिक्विड फर्टिलाइजर भी ऑनलाइन ई कॉमर्स वेबसाइट पर बड़ी आसानी से और काफी कम कीमत पर मिल जाते हैं। आइये जानते हैं कुछ प्रमुख लिक्विड फर्टिलाइजर (तरल उर्वरक) के नाम और उनके उपयोग के बारे में:

लिक्विड फर्टिलाइजर पोषक तत्व फायदे उपयोग कब करें
बायो एनपीके उर्वरक (Bio Npk Fertilizer) पौधों को नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटेशियम और अन्य सूक्ष्म पोषक तत्व देता है। पौधों को हरा भरा बनाना, फूल, फल, सब्जियों की पैदावार और क्वालिटी बढ़ाना, मिट्टी में सुधार करना। सीडलिंग में, ग्रोइंग स्टेज में, फल और फूल लगते समय
प्लांट ग्रोथ प्रमोटर फर्टिलाइजर (Plant Growth Promoter) ह्युमिक एसिड, एमिनों और फल्विक एसिड पौधों की ग्रोथ को बढ़ाना, फल और फूल बढ़ाना, पौधों को कीट और रोगों से बचाना। पौधों की रुकी हुई ग्रोथ को बढाने में, ग्रोइंग स्टेज में, फल और फूल लगते समय
एप्सम साल्ट (Epsom Salt) मैग्नीशियम और सल्फर पौधों को हरा-भरा बनाना और फूलों की पैदावार बढ़ाना। ग्रोइंग स्टेज में, फल और फूल लगते समय
सीवीड लिक्विड फर्टिलाइजर (Seaweed Fertilizer) Npk, मैग्नीशियम, आयरन, जिंक पौधे को मजबूत और स्वस्थ बनाना, फल और फूलों की क्वालिटी बढ़ाना। सीडलिंग में, ग्रोइंग स्टेज में, फल और फूल लगते समय
फिश इमल्शन लिक्विड फर्टिलाइजर (Liquid Fish Emulsion Fertilizer) Npk, कैल्शियम और मैग्नीशियम पौधों को मजबूत बनाना, जड़ों की ग्रोथ को तेजी से बढ़ाना, पौधे को कीट और रोगों के प्रति प्रतिरोधी बनाना। सीडलिंग में, ग्रोइंग स्टेज में, फल और फूल लगते समय

कुछ प्रमुख होममेड तरल उर्वरक – Best Homemade Liquid Fertilizer For Plants In Hindi

कुछ प्रमुख होममेड तरल उर्वरक - Best Homemade Liquid Fertilizer For Plants In Hindi

आप घर पर आसानी से उपलब्ध चीजों से भी होममेड लिक्विड फर्टिलाइजर बना सकते हैं और पौधों पर उनका इस्तेमाल कर सकते हैं। आइये जानते हैं कुछ प्रमुख होममेड तरल उर्वरक के नाम:

  1. केले के छिलके से बनी तरल खाद (Banana Peel Liquid Fertilizer) – इसमें फास्फोरस और पोटेशियम पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। केले के छिलके की खाद इस्तेमाल करने से पौधा मजबूत बनता है और उसमें फलों और फूलों की पैदावार अच्छी होती है। इसे पौधों की ग्रोइंग स्टेज में, और फल-फूल लगने के दौरान प्रयोग करें।
  2. प्याज के छिलके से बना लिक्विड फर्टिलाइजर (Onion Peel Liquid Fertilizer) – इसके इस्तेमाल से पौधों की रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है, और पौधों की ग्रोथ अच्छे से होती है। प्याज के छिलकों से बनी तरल खाद पौधे की ग्रोइंग स्टेज में इस्तेमाल करें।
  3. चायपत्ती से बनी लिक्विड खाद (Tea Fertilizer) – इसके इस्तेमाल से पौधे हरे-भरे रहते हैं और उनकी बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है। चायपत्ती से बनी लिक्विड खाद पौधे की ग्रोइंग स्टेज में इस्तेमाल करें।

(यह भी जानें: पोटेड प्लांट्स के लिए टॉप 10 होममेड जैविक खाद…..)

इस आर्टिकल में आपने जाना कि पौधों में लिक्विड या तरल उर्वरक का उपयोग कब और कैसे करना चाहिए और बेस्ट तरल उर्वरक (liquid fertilizer) कौन से हैं। यह लेख अगर आपको यूजफुल लगा हो, तो इसे शेयर जरूर करें। अगर इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी के बारे में आप हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं या कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो उसे कमेन्ट बॉक्स में लिख सकते हैं।

बेस्ट तरल खाद खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist
  • Add to Wishlist
    Add to Wishlist

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shopping Cart

LOG IN

Don’t Have An Account?

OR
OR

SIGN UP

OR

Resend OTP (00:30)
0
    0
    Your Cart
    Your cart is emptyReturn to Shop
    Scroll to Top