पौधों की अच्छी ग्रोथ के लिए ऐसे इस्तेमाल करें, एप्सम साल्ट - Epsom salt for plants in Hindi

पौधों की अच्छी ग्रोथ के लिए ऐसे इस्तेमाल करें, एप्सम साल्ट – Epsom salt for plants in Hindi

क्या आप जानते हैं कि, एप्सम साल्ट का इस्तेमाल पौधों की अच्छी ग्रोथ के लिए किया जा सकता है। चाहे आप छत, आंगन या बालकनी में पौधे उगाएं या फिर गार्डन में। हर पौधे की उचित ग्रोथ, जर्मिनेशन और विकास के लिए आवश्यक पोषक तत्वों की जरूरत पड़ती है। जगह की कमी के कारण बहुत से लोग अपने शौक पूरा करने के लिए टेरेस गार्डनिंग करते हैं। इस दौरान उन्हें मिट्टी को उपजाऊ बनाने और मिट्टी में लवण व खनिज को मिलाना जरूरी हो जाता है, इससे मिट्टी की गुणवत्ता में सुधार होता है। सिर्फ इतना ही नहीं पौधों को उचित खनिज मिलने से फल और फूल भी स्वस्थ होते हैं।

वैसे तो मिट्टी में कई चीजों को मिलाकर पौधों की ग्रोथ बढ़ायी जा सकती है, लेकिन एप्सम साल्ट (epsom salt) इनमें से एक है, जो पौधों की वृद्धि के लिए किसी रामबाण से कम नहीं है। तो आइए जानते हैं, एप्सम साल्ट क्या है, पौधों में एप्सम साल्ट डालने के फायदे\लाभ क्या हैं, एप्सम साल्ट कितना व कैसे उपयोग करें और किन पौधों में डालें।

एप्सम सॉल्ट क्या है? – What Is Epsom Salt in Hindi

एप्सम सॉल्ट क्या है? - What Is Epsom Salt in Hindi

एप्सम सॉल्ट एक प्राकृतिक खनिज (natural mineral) है, जो हाइड्रेटेड मैग्नीशियम सल्फेट (hydrated magnesium sulfate) से बनता है। यह मैग्नीशियम का एक मूल्यवान स्रोत है। इसका उपयोग मनुष्यों, जानवरों और पौधों में कई समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है। रासायनिक रूप से इसमें 10% मैग्नीशियम (magnesium) और 13% सल्फर (sulfur) होता है। ये ऐसे पोषक तत्व हैं, जो पौधों की वृद्धि और विकास के लिए आवश्यक हैं। एप्सम साल्ट का रासायनिक नाम मैग्नीशियम सल्फेट और रासायनिक सूत्र MgSO4 है। एप्सम सॉल्ट साधारण नमक से भिन्न होता है, यह मैग्नीशियम और सल्फेट के संयोजन का एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला खनिज है। एप्सम सॉल्ट का इस्तेमाल खाने में नहीं किया जाता है बल्कि, इसका इस्तेमाल कई बीमारियों में दवा और इलाज के तौर पर और गार्डनिंग में किया जाता है।

(यह भी जानें: पौधों में पोषक तत्वों (प्लांट न्यूट्रिएंट्स) के कार्य और कमी के लक्षण…..)

जैविक खाद खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

 

पौधों के लिए कितना एप्सम साल्ट दें – How Much Epsom Salt For Plants in Hindi

गार्डन में एप्सम साल्ट का उपयोग करने के कई अलग-अलग तरीके हैं। पौधों में कितना एप्सम साल्ट दें, इसका अनुपात पौधों की स्थिति और किस्म पर निर्भर करेगा। जैसे कि गार्डन या घर में लगे पौधों के लिए एक गैलन (3-4 लीटर) पानी में दो चम्मच (30 ग्राम) एप्सम साल्ट मिलाकर इस्तेमाल करें। एप्सम साल्ट और पानी के घोल को महीने में एक बार पौधों को अवश्य दें। गुलाब में नई ग्रोथ और फ्लावरिंग के लिए आप गुलाब के पौधे में आधा कप एप्सम साल्ट का उपयोग करें। इसके अलावा झाड़ियों और जड़ी बूटी वाले पौधों में साल में कम से कम तीन बार एप्सम साल्ट का उपयोग करना चाहिए।

(यह भी जानें: पर्लाइट क्या है? गार्डनिंग में लाभ और प्रयोग के तरीके…..)

पौधों पर एप्सम साल्ट का प्रयोग कैसे करें – How to Apply Epsom Salt to Plants in Hindi

पौधों पर एप्सम साल्ट का प्रयोग कैसे करें - How to Apply Epsom Salt to Plants in Hindi

गार्डन में एप्सम साल्ट का उपयोग आमतौर पर फोलियर स्प्रे (foliar spray) या पर्ण स्प्रे के रूप में किया जाता है। एप्सम सॉल्ट को पानी में मिलाकर पौधों को दिया जा सकता है और मिट्टी पर छिड़काव (soil drench) के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा पौधा रोपण करते समय, आप एप्सम साल्ट को सीधे मिट्टी में मिला सकते हैं।

आप पानी में एप्सम साल्ट को आवश्यक मात्रा में मिलाएं और इसे पौधे की पत्तियों पर स्प्रे करें। प्रति 3 से 4 लीटर पानी में आप 30 ग्राम एप्सम साल्ट को घोलें और महीने में एक बार पौधों पर स्प्रे करें। वसंत ऋतु में पहली बार पौधे में नए पत्ते उत्पन्न होने के दौरान और फिर फ्लावरिंग के बाद पौधों पर एप्सम साल्ट घोल का स्प्रे करना फायदेमंद होता है।

टमाटर और मिर्च को ग्रो करने के लिए पौधों की रोपाई के दौरान 15 ग्राम एप्सम साल्ट को प्रत्येक प्रत्यारोपण में शामिल कर सकते हैं या फिर घोल के रूप में दे सकते हैं।

(यह भी जानें: गार्डन में लगे हुए पौधों को खाद कैसे दें…..)

गार्डनिंग टूल्स खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

गार्डनिंग में एप्सम साल्ट प्रयोग करने के फायदे Benefit of Epsom salt for plants in Hindi

एप्सम साल्ट का इस्तेमाल पौधों के लिए बहुत ही फायदेमंद है, इसका उपयोग (Epsom salt uses) गार्डन के अलावा इनडोर पौधों में भी किया जा सकता है। यह पौधों के स्वास्थ्य के लिए रामबाण माना जाता है। गुलाब, टमाटर और मिर्च जैसे पौधों के लिए यह मुख्य रूप से फायदेमंद होता है। आइए जानते हैं, एप्सम साल्ट पौधों के लिए किस प्रकार फायदेमंद होता है:-

पोषक तत्वों के अवशोषण में – Epsom salt for Improves Nutrient Uptake in Hindi

प्राकृतिक खनिज एप्सम साल्ट में मैग्नीशियम होता है। यह एक आवश्यक पोषक तत्व है, जो पौधे को आवश्यक कार्य करने में मदद करता है। एप्सम साल्ट में पाया जाने वाला मैग्नीशियम पौधे द्वारा नाइट्रोजन और फास्फोरस जैसे अन्य पोषक तत्वों को अवशोषित करने की क्षमता को बढ़ाता है, जिसके बिना पौधों का विकास अधूरा माना जाता है। इसलिए एप्सम साल्ट न केवल पौधे को मैग्नीशियम की आपूर्ति करने में उपयोगी है, बल्कि पौधों में एप्सम साल्ट डालने से पौधा, मिट्टी से अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्वों को अधिक मात्रा में ग्रहण कर पूर्ण रूप से विकसित हो सकता है।

(यह भी जानें: पौधों की वृद्धि के लिए 10 शानदार टिप्स…..)

ग्रो बैग (गमला) खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

पौधों को हराभरा बनाने में – Epsom salt Use for Greener Plants in Hindi

पौधों को हरा-भरा बनाने में - Epsom salt Use for Greener Plants in Hindi

एप्सम साल्ट में मौजूद मैग्नीशियम, पौधों को हरा-भरा बनाने में मदद करता है। दरअसल, मैग्नीशियम पौधों के क्लोरोफिल के निर्माण में उपयोगी होता है, जो कि पौधे की पत्ती के रंग को निर्धारित करता है, जिससे पौधे के पत्ते चमकदार और रसीले दिखाई देते हैं। प्रकाश संश्लेषण के लिए पौधे को क्लोरोफिल भी जरूरी है। प्रकाश संश्लेषण प्रक्रिया के जरिए पौधे अपना भोजन और ऊर्जा बनाते हैं।

(यह भी जानें: सूखे हुए पौधे को हरा भरा कैसे करें…..)

पौधों की कीटों से सुरक्षा – Epsom salts as pesticide in Hindi

एप्सम सॉल्ट पौधों में वोल्स (voles) और स्लग (slugs) जैसे कीटों को पास आने से रोकने में मदद करता है। पौधों पर एप्सम साल्ट का छिड़काव करने से गार्डन में स्लग की संख्या कम हो सकती है। कीटों से पौधों को सुरक्षित रखने के लिए पानी में एप्सम साल्ट मिलाकर घोल तैयार करें और इसे पौधों पर स्प्रे करें। एप्सम साल्ट घोल कीटों को निर्जलित करके उन्हें मार देता है।

(यह भी जानें: इंडोर प्लांट्स को कीड़ों से बचाने के लिए टिप्स…..)

जरूरी चीजें खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

बीजों के अंकुरण में Epsom salt for seed germination in Hindi

एप्सम साल्ट का लाभ बीजों के अंकुरण में - Epsom salt for seed germination in Hindi

गमले या गार्डन में बीज बोते समय एप्सम साल्ट का इस्तेमाल करने से सीड जर्मिनेशन या बीजों का अंकुरण अच्छी तरह होता है। एप्सम साल्ट में मौजूद मैग्नीशियम कोशिका भित्ती को मजबूत करके बीजों को अंकुरित करने में मदद करता है। इससे जर्मिनेशन की दर बढ़ती है और मजबूत सीडलिंग का उत्पादन होता है। इसलिए बीज बोने से पहले मिट्टी में एप्सम साल्ट मिलाएं या बीज बोने से पहले हर छेद में लगभग 10 से 15 ग्राम एप्सम साल्ट डालें। गमले में पौधे उगाने के लिए बराबर मात्रा में मिट्टी और एप्सम साल्ट डालें या एक छोटे गमले में केवल एप्सम साल्ट डालकर सीड जर्मिनेशन करें।

(यह भी जानें: सब्जियों के बीजों को अंकुरित करने की सम्पूर्ण जानकारी…..)

मीठे फल के विकास में एप्सम साल्ट है फायदेमंद Epsom salt for sweet fruits in Hindi

फल आना पौधों के सम्पूर्ण जीवन चक्र का एक महत्वपूर्ण स्टेज है। मीठे और स्वस्थ फल आने के लिए पौधों को उचित मात्रा में आवश्यक पोषक तत्वों की जरूरत होती है। फल देने वाले पौधों में महीने में एक बार, एक गैलन (3 से 4 लीटर) पानी में एक चम्मच (लगभग 15 ग्राम) एप्सम साल्ट घोलकर पौधों को दें। यह पादप कोशिकाओं के अंदर क्लोरोफिल के स्तर को बढ़ाता है, फलों को प्राइमरी शुगर प्रदान करता है, जिससे फल मीठे और स्वस्थ होते हैं।

(यह भी जानें: पौधों में फूल और फल लगने के लिए बेस्ट खाद…..)

पौधों को सूक्ष्म पोषक तत्व प्रदान करने में सहायक – Epsom salt Provides Micronutrients in Hindi

चूँकि एप्सम साल्ट में दो सूक्ष्म पोषक तत्व मैग्नीशियम और सल्फर होते हैं, जो पौधे के लिए उपयोगी होते हैं। ये सूक्ष्म पोषक तत्व (Micronutrients) पौधों की अच्छी ग्रोथ में मदद करते हैं। गुलाब, मिर्च और टमाटर के पौधों को पनपने के लिए अधिक मात्रा में मैग्नीशियम की आवश्यकता होती है, इसलिए इन पौधों को एप्सम साल्ट के सूक्ष्म पोषक तत्वों का फायदा मिलता है। नेशनल गार्डनिंग एसोसिएशन की स्टडी के अनुसार गुलाब में एप्सम साल्ट का इस्तेमाल करने से अधिक मात्रा में बड़े फूलों का उत्पादन होता है, जबकि मिर्च के पौधे अधिक फलों का उत्पादन करते हैं।

(यह भी जानें: महत्वपूर्ण जैविक उर्वरक और उनका एनपीके अनुपात…..)

बागवानी उपकरण (gardening tools) खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

मिट्टी के पीएच को उदासीन करने में – Epsom salt Uses for Neutralizes Soil pH in Hindi

मिट्टी के पीएच को उदासीन करने में - Epsom salt Uses for Neutralizes Soil pH in Hindi

यदि गार्डन की मिट्टी का पीएच 7.5 से अधिक है, तो आप मिट्टी में एप्सम साल्ट मिलाकर पीएच को उदासीन कर सकते है। अधिक क्षारीय मिट्टी में पौधे अच्छी तरह से ग्रो करनी कर पाते हैं, इस स्थति में मिट्टी के पीएच स्तर को कम करना बहुत फायदेमंद होता है।

(यह भी जानें: अम्लीय मिट्टी क्या है, जानें पौधों पर इसके प्रभाव…..)

पौधों पर एप्सम साल्ट का प्रयोग कब नहीं करना चाहिए – When Not to Use Epsom Salts in the Garden in Hindi

पौधों पर एप्सम साल्ट प्रयोग कब नहीं करना चाहिए - When Not to Use Epsom Salts in the Garden in Hindi

अगर आप गार्डनिंग करते हैं, तो आपको यह जानना बेहद जरूरी है कि पौधों में एप्सम साल्ट का उपयोग कब न करें। एप्सम साल्ट में पाया जाने वाला मैग्नीशियम विशेष रूप से टमाटर, गुलाब और मिर्च के लिए फायदेमंद है। लेकिन कुछ परिस्थितियों में पौधों पर एप्सम साल्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, जो कि इस प्रकार हैं:

  • मुख्य फर्टिलाइजर के रूप में मिट्टी को सबसे पहले नाइट्रोजन, फास्फोरस और पोटैशियम जैसे मुख्य पोषक तत्वों की जरूरत होती है। इसलिए एप्सम साल्ट को मिट्टी में मुख्य फर्टिलाइजर के रूप में इस्तेमाल न करें। आप सर्वप्रथम पौधों को आर्गेनिक फ़र्टिलाइज़र दें।
  • मैग्नीशियम की कमी वाले पौधों में कुछ पौधों में मैग्नीशियम की कमी हो जाती है, क्योंकि इनमें फॉस्फोरस का स्तर अधिक होता है। जरूरी नहीं है कि ऐसे पौधों में एप्सम साल्ट डालने पर पौधे तेजी से वृद्धि करें, क्योंकि फॉस्फोरस मिट्टी से पौधों को मैग्नीशियम अवशोषित नहीं करने देता है। आपको यह भी पता होना चाहिए कि, कई पौधे जैसे सेम (beans) और पत्तेदार सब्जियां (leafy vegetables), मैग्नीशियम के निम्न स्तर वाली मिट्टी में अच्छी तरह से ग्रो करती हैं और उच्च उत्पादन करेंगी।
  • अम्लीय मिट्टी में एप्सम साल्ट क्षारीय मिट्टी को न्यूट्रिलाइज करने में मदद करता है, और अम्लीय मिट्टी पर विपरीत प्रभाव डालता है। यदि आपकी मिट्टी अम्लीय है, तो आपको एप्सम साल्ट का उपयोग करने से बचना चाहिए, क्योंकि इससे समस्या बढ़ सकती है।
  • अधिक धूप व गर्म मौसम में (during hot sunny weather) – अधिक धूप आर गर्म मौसम में पौधों पर एप्सम-सॉल्ट का स्प्रे पर्णसमूह (foliage) को नुकसान पहुंचा सकता है।

(यह भी जानें: 6 संकेत जो बताते हैं कि आपके पौधे ओवर फर्टिलाइज हैं…..)

एप्सम साल्ट कहां मिलेगा – Where To Buy Epsom Salt In Hindi

एप्सम साल्ट कहां मिलेगा - Where To Buy Epsom Salt In Hindi

आजकल लगभग हर जगह बहुत सी नर्सरी और गार्डनिंग शॉप ओपन हो चुकी हैं, जहाँ से गार्डन मटेरियल या प्रोडक्ट खरीदे जा सकते हैं। इसके अलावा आप ऑनलाइन गार्डन स्टोर से भी बेस्ट क्वालिटी के खाद व उर्वरक जैसे एप्सम साल्ट, गोबर खाद व अन्य गार्डनिंग प्रोडक्ट घर बैठे आसानी से खरीद सकते हैं। एप्सम साल्ट खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें।

(यह भी जानें: एप्सम साल्ट फर्टिलाइजर का प्रयोग किन पौधों पर करना चाहिए…..)

एप्सम साल्ट में सूक्ष्म पोषक तत्व होते हैं और कुछ पौधों, विशेष रूप से गुलाब, टमाटर और मिर्च के लिए लाभकारी सप्लीमेंट हैं। ये मिट्टी की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद कर सकते हैं, हालांकि एप्सम साल्ट अम्लीय मिट्टी के लिए अच्छा नहीं होता है। एप्सम साल्ट में कोई महत्वपूर्ण पोषक तत्व नहीं होते हैं, इसलिए संतुलित उर्वरक (balanced fertilizer) के स्थान पर इसका उपयोग नहीं करना चाहिए।

जैविक खाद खरीदने के लिए नीचे दिए आइकॉन पर क्लिक करें:

1 thought on “पौधों की अच्छी ग्रोथ के लिए ऐसे इस्तेमाल करें, एप्सम साल्ट – Epsom salt for plants in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shopping Cart

LOG IN

Don’t Have An Account?

OR
OR

SIGN UP

OR

Resend OTP (00:30)
0
    0
    Your Cart
    Your cart is emptyReturn to Shop